breaking news New

सरकार 50 लाख रेहड़ी-पटरी वालों के लिए ‘सूक्ष्म-ॠण योजना’ लेकर आएगी

सरकार 50 लाख रेहड़ी-पटरी वालों के लिए 'सूक्ष्म-ॠण योजना' लेकर आएगी

सरकार ने लॉकडाउन के कारण परेशानी में फंसे रेहड़ी-पटरी वालों के लिए ‘सूक्ष्म-ॠण योजना’ शुरू किया है। इसके तहत फल, सब्जियां, चाय, पकोड़े, पान गुटखा आदि बेचने वालों को सस्ती ब्याज दरों पर 10 हजार रुपये का ऋण मिल सकेगा।

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने वैश्विक महामारी (कोविड -19) के कारण लॉकडाउन के लागू होने से मुश्किलों का सामना कर रहे रेहड़ी-पटरी वाले खुदरा विक्रेताओं के लिए ‘सूक्ष्म-ॠण योजना’ शुरू किया है। इसके तहत फल और सब्जियां, चाय पकोड़े, पान गुटखे आदि बेचने वाले पांच मिलियन से अधिक लोग आसान शर्तों पर 10 हजार रुपये का ऋण प्राप्त कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज यहां हुई कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक के बाद सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी।

श्री जावड़ेकर ने कहा कि आवास और शहरी मंत्रालय ने हमारे मेहनती लोगों की मदद करने के लिए सस्ती ब्याज दरों पर ऋण प्रदान करने के लिए एक ‘विशेष सूक्ष्म-ॠण योजना’ के साथ आए हैं। प्रधान मंत्री, प्रधान मंत्री पीएम सोनी ने स्ट्रीट वेंडरर्स अतांबरबर फंड का शुरुआत किया है।

यह योजना उन्हें कार्य को फिर से शुरू करने और रोजी-रोटी कमाने के लिए सक्षम बनाने के लिए एक लंबा रास्ता तय करेगी। इस योजना से विभिन्न राज्यों में वेंडर, हॉकर, पेडलर, ठेले वाले ,रेहड़ी वाले, थैली, फल आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को लाभ होने की उम्मीद है।

[हम्स लाईव]

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password