breaking news New

डब्ल्यूएचओ अगले सप्ताह एक टीम कोविड -19 के स्रोत का पता लगाने के लिए चीन भेजेगी

डब्ल्यूएचओ एक टीम कोविड -19 के स्रोत का पता लगाने के लिए भेजेगी चीन

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि वायरस के स्रोत का पता लगाना महत्वपूर्ण है। जब तक हम वायरस के बारे में सब कुछ नहीं जानते कि इस की शुरूआत कैसे हुई, तब तक हम इस वायरस से बेहतर तरीके से नहीं लड़ सकते।

जेनेवा: दुनिया भर में कोविड-19 के प्रसार के बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि वह वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम अगले सप्ताह चीन भेजेगी।

कोविड-19 पर नियमित संवाददाता सम्मेलन के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक डॉ। टेड्रोस गब्रिस ने कहा, “डब्ल्यूएचओ ने हमेशा कहा है कि वायरस के स्रोत का पता लगाना बहुत महत्वपूर्ण है।” तभी हम इस वायरस से बेहतर तरीके से लड़ सकते हैं जब हमें इसके बारे में सब कुछ मालूम हो जाए और यह भी मालूम हो जाए कि इसकी शुरुआत कैसे हुई। हम इसकी तैयारी के लिए अगले सप्ताह एक टीम चीन भेज रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हम जान सकेंगे कि यह वायरस कैसे शुरू हुआ और हम भविष्य के लिए कैसे तैयार हो सकते हैं।

एक सवाल के जवाब में, उन्होंने कहा कि यह वायरस बहुत आक्रामक तरीके से फैल रहा है। किसी वैक्सीन या इलाज की खोज की प्रतीक्षा करने के बजाय, हम संपर्क का पता लगाने, सामाजिक दूरी आदि जैसे उपायों से फैलने से रोक सकते हैं। उन्होंने कहा “अब तक, 1 करोड़ से अधिक मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 5 लाख से अधिक लोगों ने अपनी जानें गंवाई है। हम जिन कदमों के बारे में जानते हैं, उन्हें अजमाकर इसे रोका जा सकता था। टीके और इलाज मददगार होंगे।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ने कहा कि अगर सरकारे इसे गंभीरता से लेती है और समुदाय स्तर पर लोग अपना सहयोग करता है तो वायरस को फैलाने से रोका जा सकता है। हम टीका खोजने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। तब तक, डब्ल्यूएचओ अनुशंसा करता है कि हमें अपनी तरफ से उन कदमों को अपनाना चाहिए। कई देशों ने दिखाया है कि इस वायरस को रोका जा सकता है।

कुछ देशों में आर्थिक और सामाजिक प्रतिबंधों में ढील के साथ कोविड-19 मामलों के दोबारा उभरने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि अभी भी अधिकांश लोगों को वायरस का खतरा है। उन्होंने कहा “यह कड़वा सच है कि वायरस विलुप्त होने के करीब भी नहीं है”। कई देशों में (संक्रमण की रोकथाम) प्रगति हुई है, लेकिन यह महामारी विश्व स्तर पर तेजी से फैल रही है।

[हम्स लाईव]

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password