breaking news New

लॉकडाउन का विस्तार, गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए अनलाॅक 2.0 के दिशा-निर्देश

नई दिल्ली: कोरोना महामारी से परेशान देश में आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाने और जीवन को सामान्य बनाने के लिए कदम उठा रही सरकार ने आज अनलॉक 2 को लेकर नए दिशा-निर्देश जारी कर दिये हैं।

हालांकि कंटेनमेंट जोन में पूरी तरह 31 जुलाई तक सख्ती से प्रतिबंध रखने का निर्णय लिया गया है।

गृह मंत्रालय द्वारा कल रात जारी किया गया निर्देश 1 जुलाई से 31 जुलाई तक लागू रहेगा। कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्रों में पहले की तुलना में अधिक गतिविधियों को चालू करने की अनुमति दी गई है, लेकिन मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और अन्य समान स्थानों को बंद करने का निर्णय लिया गया है।

इसके अलावा, सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षिक, धार्मिक कार्यक्रम और अन्य भीड़ भरे कार्यक्रम पहले की तरह प्रतिबंध जारी रहेगा।

इनको खोलने के बारे में अलग अलग से निर्णय लिया जाए जो स्थिति के आकलन के आधारित होगा।

स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर भी 31 तक बंद रहेंगे।

केंद्रीय और राज्य सरकार के प्रशिक्षण संस्थानों को 15 जुलाई से संचालित करने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन उन्हें सरकार द्वारा जारी मानक प्रक्रिया का पालन करना होगा। रात के कर्फ्यू में ढील दी गई है और अब यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा।

कोरोना महामारी के कारण, 25 मार्च से कई चरणों में देश भर में लाॅकडाउन लागू किया जा चुका है। लाॅकडाउन के कई दौर के बाद, सरकार ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए देश को अनलॉक करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके तहत आज अनलॉक से संबंधित निर्देश जारी किए गए हैं।

सरकार ने पहले से ही अनलॉक -1 के तहत कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर धार्मिक स्थलों, होटलों, रेस्तरां और अन्य होस्टिंग सेवाओं और शॉपिंग मॉल खोलने की अनुमति 8 जून को दे चुका है। अनलॉक -1 के निर्देश 30 मई को जारी किए गए थे।

अनलॉक-2 में घरेलू उड़ानों और यात्री गाड़ियों की सेवाओं को चरणबद्ध तरीके से और विस्तारित करने का निर्णय लिया गया है। दुकानें अब एक बार में पांच से अधिक लोगों को समायोजित कर सकेंगी, हालांकि उन्हें सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा।

अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को वर्तमान में केवल वंदे मातरम मिशन के तहत अनुमति दी ग है। बाद में चरणबद्ध तरीके से इनका विस्तार किया जाएगा।

[हम्स लाईव]

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password